Ashwagandha Plant: अश्वगंधा के 5 फायदे, कैसे खाएं और नुकसान

0

ashwagandha ke fayde kaise khayen aur nuksan

अश्वगंधा हमारे आयुर्वेद में बहुत ही महत्वपूर्ण हर्बल पौधा है। इसका उपयोग हमारे आयुर्वेद में जड़ी बूटी के रूप में किया जाता है। अगर वैज्ञानिको की बात करें तो वह भी इसे बहुत गुणकारी औषधी मानते हैं। अश्वगंधासे हमारे शरीर को बहुत से फायदे होते हैं।

सदियों से हमारे यहाँ अश्वगंधा का उपयोग अपने शरीर की उर्जा बढाने, स्मरण शक्ति को मजबूत करने और स्ट्रेस को कम करने में होता आया है। इसके आलावा इसका उपयोग मोटापे को कम करने में भी किया जाता है।

अश्वगंधा की बात करें तो इसको कई अन्य जड़ी बूटी में मिलाकर उपयोग किया जाता है और इसके फायदे लिए जाते हैं। लकिन इसका ज्यादा उपयोग आपको नुकसान भी पहुचा सकता है। इस पोस्ट में हम आपके साथ अश्वगंधा के होने वाले फायदे, अश्वगंधा से होने वाले नुकसान, अश्वगंधा को कैसे, कब और कितना खाए इसके बारे में विस्तार से बताने वाले हैं।

{tocify} $title={Table of Contents}

What Is Ashwagandha In Hindi - अश्वगंधा क्या होता है

यदि हम इसका संधी विच्छेद करेंगे तो पाएंगे अश्व यानी घोडा और गंध यदि महक, मतलब जिसमे घोड़े के पेशाब जैसी महक आये उसे अश्वगंधा कहेते हैं। यही इसकी पहेचान का तरीका भी है। प्राचीन काल में यह जंगलो से प्राप्त किया जाता था लेकिन आज के समय में इसे खेती से प्राप्त कर लिया जाता है।

यदि इसके वानस्पतिक नाम की बात करें तो इसे “विथानिया सोम्निफेरा” कहेते हैं। अश्वगंधा बहुत से नाम है और भी हैं जैसे पुनीर, नागोरी असगन्ध, असगंधनागोरी, इंडियन जिनसेंग और विंटर चेरी के आलावा भी अनेक भाषा में अलग नाम से पुकारा जाता है।

हजारों सालों से इस पौधे की जड़ो और पत्तों का उपयोग बहुत सी बीमारियों के इलाज में होता आया है। यह छोटी ही नहीं कई बड़ी बीमारियों का इलाज करने में बहुत फायदेमंद है।

अश्वगंधा में पाए जाने वाले पोषक तत्व – Ashwagandha Plant Nutrition

अश्वगंधा गुणों की खान है। अश्वगंधा में कई पोषक तत्व होते हैं जो आपके शरीर को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं। इसमें पाए जाने पोषक तत्व में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, आयरन, कैल्शियम, विटामिन-सी मतवपूर्ण हैं। यह सभो तत्व हमारे शरीर को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं।

Top 5 Ashwagandha Benefits In Hindi - अश्वगंधा से होने वाले गज़ब के फायदे

जब अश्वगंधा पर शोध किये गये तो इसमें पाए जाने पोषक तत्व के कारण इसके कई फायदे देखे गये। ऐसा देखा गया की यह औषधी कई बीमारियों में चमत्कारी रूप से फायदा करती है। यदि आपको इसके फायदे लेने हैं तो आप अपने डॉक्टर से परामर्श लेकर इसका उपयोग कर सकते हैं।

एक प्रकशित रिपोर्ट अनुसार अश्वगंधा शरीर की प्रचालन छ्मता को बढाता है, मर्दों की शक्ति को बढता है, और तनाव को कम करने मदद करता है। यहाँ नीचे हम आपको बता रहे हैं अश्वगंधा के फायदे (ashwagandha benefits in hindi) जिन्हें जानकार आप अश्वगंधा के पौधे को जरुर उपयोग करेंगे।

Basil Plant: तुलसी के पत्ते खाने के 5 फायदे, कैसे खाएं और नुकसान {alertSuccess}

पुरुषों के लिए रामबाण औषधी है अश्वगंधा

अश्वगंधा का उपयोग करके पुरुषों की बहुत सी समस्या से निजात दिलाई जा सकती है। अश्वगंधा में कई ऐसे पोषक तत्व होते हैं जो मर्दानी कमजोरी को दूर करने और शरीर को ताकतवर बनाने में सहायक होते हैं। इसके सेवन से शीघ्रपतन की समस्या दूर होती है। यह टेस्टास्टेरॉन हॉर्मान को बढाने, फर्टिलिटी बढाने और यौन इच्छा में सहायक सिद्ध होता है। इसका उपयोग यदि आप करना चाहते हैं तो आप अपने डॉक्टर की सलाह पर एक सिमित मात्रा में ही करें।

अश्वगंधा दिमाग की झमता बढाने में है बहुत फायदे

अश्वगंधा शरीर के लिए कई तरीके से फायदेमंद तो है ही इसके साथ यह हमारे दिमाग के लिए भी बहुत फायदा करता है। इसके सेवन से स्मरण शक्ति मजबूत होती है। आपने इसका उपयोग बहुत सी दिमाग से जुडी टॉनिक में होते हुए देखा होगा। जैसे-2 हमारी उम्र बढ़ने लगती है हमारी स्मरण शक्ति कम होने लगती है। यदि आप अश्वगंधा का सेवन करते हैं तो आपको उम्र के साथ होने वाली भूलने और समझने होने वाली परेशानी में फायदा होता है।

अश्वगंधा आँखों के लिए है बहुत फायदे

जब हम आयुर्वेद के बात करते हैं तो उसमे तुलसी का बहुत से फायदे बताये हैं उनमे से एक फायदा तुलसी का रस हमारी आँखों के लिए बहुत फायदा करता है। बाजार में बहुत सी ड्रॉप्स उपलब्ध है आप अपने डॉक्टर की सलहा पर इन्हें उपयोग कर सकते हैं।

अश्वगंधा अर्थराइटिस के लिए है बहुत फायदे

अर्थराइटिस बीमारी में हमारे शरीर में दर्द और सुजन की शिकायत हो जाती है। अगर आप इस बीमारी में अश्वगंधा का सेवन अपने डॉक्टर की सलहा पर करते हैं तो यह आपको इस बीमारी में बहुत लाभ पंहुचा देगा। इस औषधी पौधे में एंटीइंफ्लेमेटरी प्रभाव पाया जाता है जो दर्द ओत सुजन को कम करने में मदद करता है।

अश्वगंधा अनिद्रा में हैं बहुत फायदे

आजकल कई युवा अनिद्रा जैसी बीमारी से परेसान हैं। नींद ने आने की समस्या में आप अश्वगंधा का सेवन अपने डॉक्टर की सलहा पर कर सकते हैं। इसमें ट्राएथिलीन ग्लाइकोल नमक एक तत्व पाया जाता है जो हमें सोने मेमदद करता है।

How to Eat Ashwagandha in Hindi – अश्वगंधा को कैसे, कब और कितना खाना चाहिए

मैंने जैसे आपको बताया है की अश्वगंधा गुणों की खान है और इसके सेवन से कई फायदे हैं। इसके इतने फायदे होने के कारण आजकल ये बाजार में आपको कई रूप में मिल जायेगा जैसे पाउडर, चूर्ण आदि।

अश्वगंधा का सेवन तभी फायदेमंद होता है जब उसको एक तय मात्रा में सही तरीके से सही समय किया जाये। हमने आपको ऊपर Ashwagandha Benefits In Hindi में अच्छे से बताएं हैं और आपको यह पसंद भी आये होंगे।

अब हम आपको अश्वगंधा को कैसे खाना चाहिए, अश्वगंधा को कितना और अश्वगंधा को कब खाना चाहिए इसके बारे में अच्छे से बतायेंगे। यदि हमें अश्वगंधा खाने का सही फायदा लेना है ओ आपको How to Eat Ashwagandha in Hindi में अच्छे से मालूम होना जरुरी है।

Dragon Fruit: ड्रैगन फ्रूट खाने के 9 फायदे, कैसे खाएं और नुकसान {alertSuccess}

अश्वगंधा को कैसे खाएं?

·        अश्वगंधा चूर्ण का शहद के साथ सेवन किया जा सकता है, जो बहुत फायदा करता है।

·        अश्वगंधा चूर्ण का घी के साथ सेवन किया जा सकता है।

·        अश्वगंधा कैप्सूल, अश्वगंधा चाय और अश्वगंधा का रस बाजार में उपलब्ध हैं।

·        अश्वगंधा चूर्ण को दूध में मिलाकर पिया जा सकता है।

अगर आप अश्वगंधा उपयोग किसी औषधी के रूप में करना चाहते हैं तो आप अपने आयुवेद डॉक्टर की सलहा लेकर इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

अश्वगंधा को कब खाएं?

·        अश्वगंधा की तासीर गर्म होती है इसलिए इसे सर्दियों में सेवन करना चाहिए। और ज्यादा मात्रा में नहीं करना चाहिए।

·        इसका सेवन खाने के बाद किया जा सकता है।

·        रात को सोते वक़्त दूध के साथ इसका सेवन किया जा सकता है।

अश्वगंधा कितना खाएं?

·        एक दिन में जवान पुरुष या महिला अश्वगंधा की सूखी जड़ का 3 से 5 ग्राम सेवन कर सकता है। अलग अलग आयु वर्ग के लिए इसकी खुराक अलग हो सकती है। इसलिए अपने डॉक्टर की सलहा पर ही इसका सेवन करें।

·        बाजार में मिलने वाली अश्वगंधा के चूर्ण और कैप्सूल में भी सीके सेवन के बारे में बताया गया होता है।

अगर अश्वगंधा को गलत तरीके से लिया जाये तो इस औषधी के फायदे की जगह नुक्सान भी हो सकते हैं। इसलिए इसका सेवन एक तय मात्रा में अपने डॉक्टर की सलहा पर करना चाहिये। यहाँ नीचे हम आपको अश्वगंधा के सेवन से होने वाले नुक्सान के बारे में बताने जा रहे हैं।

अश्वगंधा के पत्तियाँ खाने से होने वाले नुकसान – Side Effects Of Ashwagandha Leaves In Hindi

हमने आपको ऊपर अश्वगंधा के पत्तियाँ खाने से होने वाले फायदे अच्छे से बताये हैं। अश्वगंधा खाने के फायदे के साथ साथ कुछ नुकसान भी होते हैं जिनको ध्यान में रखकर ही हमें अश्वगंधा का सेवन करना चाहिए। यहाँ हम नीचे आपको अश्वगंधा खाने से होने वाले नुकसान बता रहे हैं।

अश्वगंधा खाने से क्या नुकसान होते हैं?

·        अश्वगंधा के ज्यादा सेवन से पेट से जुडी समस्या दस्त, उल्टियाँ आदि हो सकते हैं।

·        गर्भवती महिलाओं को अश्वगंधा का सेवन करने से बचना चाहिए क्युकी इसकी तासीर गर्म होती हैं इसलिए माना गया है की यह गर्भपात का कारण भी बन सकती है।

·        इसका इस्तेमाल नींद के लिए तो अच्छा होता है लेकिन ज्यादा दिनों तक इसका इस्तेमाल नुक्सान भी पंहुचा सकता है।

Disclaimer: हिंदी नुस्खे वेबसाइट का प्रयास आपको सही, सटीक, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड आर्टिकल लाना हमेशा प्रयास होता है, लेकिन फिर भी हमारी वेबसाइट पर मौजूद किसी भी हिंदी नुस्खे या सलाह को उपयोग करने से पहले आप एक बार अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी सुझाव, प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, Contact Us पर हमसे संपर्क करें।

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !